Skip to content
Advertisement

राजस्थान घर-2 औषधि योजना

Advertisement

एक कहावत तो आप सबने सुनी होगी कि एक से भले दो, दो से भले तीन यानि शोर्ट में कहा जायें तो किसी कार्य को करना सहज हो जाता है जब उसे मिलकर किया जायें। इसी को ध्यान में रखते हुए राजस्थान सरकार द्वारा मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में राजस्थान घर-2 औषधि योजना की शुरूआत की गई है और इस योजना के सफल संचालन के लिए सरकार ने आम आदमी को इसका हिस्सा बनाने का पहल की है। जैसा कि योजना को नाम से ही स्पष्ट है इसके अंतर्गत सरकार आम जनता को Medicinal plants की saplings free में उपलब्ध करायेगी। सरकार द्वारा  Medicinal plants की saplings तैयार करने की प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है। राजस्थान घर-2 औषधि योजना की विस्तृत जानकारी के लिए अंत तक पूरा आर्टिकल अवश्य पढें।

राजस्थान घर-2 औषधि योजना

राजस्थान घर-2 औषधि योजना आमजन के स्वास्थ्य के लिए सरकार की एक सुंदर पहल है। राजस्थान के वन तथा इसके सीमावर्ती क्षेत्र विभिन्न प्रकार की औषधीय से संपन्न हैं जिनका उपयोग आयुर्वेद में स्वास्थ्य चिकित्सा के लिए होता आया है। वर्तमान में जब पूरा विश्व कोरोना जैसी महामारी से लड रहा था और ऐसे में भारत के घर-घर में आयुर्वेदिक दवाइयों, काढ़ो और जड़ी-बूटियों का इस्तेमाल काफी बढ़ गया था। प्रत्येक घर में लोग गिलोय व तुलसी जैसे औषधीय पौधों का काढ़ा बना कर या फिर बाजार से बने बनाये काढ़े खरीद कर सेवन कर रहे थे ताकि वे कोरोना से बचने के लिए अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सके। राज्य सरकार ने इस बात को ध्यान में रखते हुए राजस्थान घर-2 औषधि योजना शुरू की है ताकि सभी घरों में ये औषधीय पौधे उपलब्ध हो और लोग इनका सेवन कर सके और आगे भविष्य में ऐसी किसी समस्या से निपटने के लिए पहले से ही तैयार रहे। योजना के तहत सरकार हर परिवार को चार औषधीय पौधे “तुलसी, गिलोय, अश्वगंधा और कालमेघ” के दो-दो पौधे  यानि एक बार में कुल 8 पौधे मिलेंगे और पांच साल में तीन बार अर्थात हर परिवार को कुल 24 पौधे दिये जाएंगे।

Advertisement
योजना का नाम राजस्थान घर-2 औषधि योजना
योजना किनके द्वारा आरम्भ की गई राजस्थान सरकार द्वारा
लाभार्थी राजस्थान राज्य की पंजीकृत
योजना के अंतर्गत कितने परिवारोे को इसका लाभार्थी बनाने का लक्ष्य  है। 1,26,50,000 परिवारों को
मुख्य उद्देश्य आयुर्वेद में तुलसी, गिलोय, अश्वगंधा और कालमेध जैसे औषधीय पौधों को इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए अच्छी औषधि बताया है इसलिए “तुलसी, गिलोय, अश्वगंधा और कालमेघ” ये चार औषधीय पौधे हर परिवार को घर में लगाने के लिए मिलेंगें।
मुख्य लाभ

आम जन के स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए औषधियो के उपयोग को बढावा मिलेगा।

Advertisement
योजना की प्रक्रिया आम जनता को Medicinal plants की saplings free में उपलब्ध करायी जायेगी।
योजना श्रेणी राजस्थान  सरकार योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट अभी उपलब्ध नहीं
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *