Skip to content
Advertisement

पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण स्कीम (Livestock Health and Disease Control) 2022 @dahd.nic.in

  • by
Advertisement

भारत की जनसंख्या का एक बहुत बडा हिस्सा खेती तथा पशुपालन के कार्य द्वारा अपना जीवनयापन करता है। खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों की आय का यही मुख्य साधन है। परंतु आजकल बढती बीमारियों के चलते किसान तथा पशुपालकों को भी बहुत सी समस्याओं का सामना करना पडता है। कई बार नुकसान होने के कारण उन्हें आर्थिक परेशानी भी इेलनी पडती है। इसी समस्या के समाधान स्वरूप सरकार द्वारा पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण स्कीम चलाई गई है। स्कीम के बारे में अधिक जानकारी के लिए नीचे दिया गया पूरा आर्टिकल पढें।

पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण स्कीम

पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण स्कीम की शुरूआत 11 सितम्बर 2019 को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने मथुरा में की थी। यह योजना पशुओं में होने वाले खुरपका और मुँहपका रोग (एमएफडी) और ब्रुसेलोसिस के नियंत्रण और उन्मूलन के लिए है। इस योजना का उद्देश्य टीकाकरण के द्वारा 2025 तक एफएमडी का नियंत्रण और 2030 तक इसका उन्मूलन करना है। इसके परिणामस्वरूप घरेलू उत्पादन में वृद्धि होगी और अंततः दूध और पशुधन उत्पादों के निर्यात में वृद्धि होगी। योजना के तहत साल में दो बार पशुओं का टीकाकरण किया जायेगा। जिन पशुओं का टीकाकरण हो जायेगा उनको पशु आधार देकर उनके कान में टैगिंग कर दिया जायेगा। इसके साथ ही पशुओं को स्वास्थ्य कार्ड भी जारी किया जायेगा।

Advertisement
योजना का नाम पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण स्कीम
योजना किनके द्वारा आरम्भ की गई पशुपालन और डेयरी विभाग केन्द्र सरकार द्वारा
लाभार्थी देश के किसान और पशुपालक
योजना में पंजीकरण प्रक्रिया ऑनलाइन माध्यम द्वारा
मुख्य उद्देश्य पशुओं में होने वाली खुरपका एवं मुंहपका रोग तथा ब्रुसेलोसिस रोग का नियंत्रण और उन्मूलन करना तथा वर्ष 2025 तक उपरोक्त रोगों पर नियंत्रण और वर्ष 2030 तक उन्मूलन।
मुख्य लाभ रोगों पर नियंत्रण में मदद मिलेगी व पशुधन पर निर्भर किसान और पशुपालकों को उनको होने वाले नुकसान से छुटकारा मिलेगा। पशुओं की सेहत में सुधार कर किसानों एवं पशुपालकों की आय में वृद्धि होगी।
प्रोत्साहन कार्य साल में दो बार टीकाकरण व जिन पशुओं का टीकाकरण हो जायेगा उनको पशु आधार देकर उनके कान में टैगिंग कर दिया जायेगा। इसके साथ ही पशुओं को स्वास्थ्य कार्ड भी जारी किया जायेगा।
योजना श्रेणी केन्द्र सरकार योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट dahd.nic.in

पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण स्कीम के लाभ –

  • पशुओं की सेहत में सुधार से किसानों एवं पशुपालकों की आय में वृद्धि होगी।
  • पशुओं में होने वाले मूंहपका और खुरपका रोग (foot and mouth disease) तथा ब्रुसेलोसिस (Brucellosis) रोग के नियंत्रण और उन्मूलन मे सहायता मिलेगी।
  • इस रोग के उपचार के बाद दुधारू पशुओं के दूध के उत्पादन में वृद्धि में सहायता मिलेगी।
  • समय-2 पर पशुओं की जांच व टीकाकरण से रोगों का सहज पता लग सकेगा व उस पर नियंत्रण पाया जा सकेगा।

योजना के लिए पीडीएफ फाईल का लिंक download-pdffile

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *