Skip to content
Advertisement

08th/10th Pass Jobs- Apply Now

यूपी वरासत प्रमाण पत्र ऑनलाइन कैसे बनवाएं? [UP Varasat Praman Patra 2022]

  • by
Advertisement

UP Varasat Praman Patra के बारे में आज के इस लेख के माध्यम से हम आपको सभी महत्वपूर्ण जानकारी को बताने जा रहे हैं। यूपी वरासत अभियान प्रमाण पत्र को उत्तर प्रदेश की सरकार द्वारा शुरू किया गया है। और इसके माध्यम से वर्तमान में ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से भूमि एवं संपत्ति के रिकार्डों को जारी किया जाएगा। 15 दिसंबर 2020 से लेकर 15 फरवरी 2021 तक इस अभियान को चलाई जाने की बात कही जा रहे हैं।

प्राकृतिक उत्तराधिकार अभियान के अंतर्गत एक भाग के रूप में ग्रामीण क्षेत्रों से जुड़ी हुई भूमि से संबंधित मुद्दों को समाप्त करेगी। उसी के साथ ग्रामीण क्षेत्र की भूमि पर कब्ज़ा करने वाले भूमि माफियाओं पर भी अंकुश लगाया जाएगा जिससे कि बहुत राहत मिलेगी। यूपी वरासत अभियान प्रमाण पत्र के बारे में अधिक जानकारी को हासिल करने के लिए हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

Advertisement
UP Varasat Praman Patra

यूपी वरासत अभियान प्रमाण पत्र

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश वरासत अध्ययन प्रमाण पत्र को शुरू किया गया है जिसके अंतर्गत जमीन से जुड़ी हुई विराट के नाम पर ग्रामीणों एवं माफियाओं द्वारा शोषण समाप्त हो सके। जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं की भूमि माफियाओं लोगों के वजह से विभिन्न प्रकार के ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

Advertisement

इसी वजह से इन सब पर रोक लगाने के लिए खास तौर पर इस योजना की शुरुआत की गई है और अब भूमि माफियाओं द्वारा शोषण सहने की आवश्यकता नहीं है। नागरिकों की भूमि विवादों को पोर्टल के माध्यम से समाप्त किया जाएगा और उन्हें राहत पहुंचाई जाएगी।

योजना का नामUP Varasat Abhiyan
योजना किसके द्वारा आरम्भ किया गयाउत्तर प्रदेश सरकार
स्कीम के लाभार्थीराज्य के नागरिक
उद्देश्यभू मफिओ को रोकना
आधिकारिक वेबसाइटयहाँ क्लिक करें
लांच साल2022
योजना श्रेणीUttar Pradesh Yojana
आवेदन करने की प्रक्रियाऑनलाइन

यूपी वरासत अभियान प्रमाण पत्र का अपडेट

दोस्तों यूपी वरासत अभियान प्रमाण पत्र के माध्यम से राज्य की 1,08,000 गांव में वर्षों से लंबित हुए मामलों को निपटाने का प्रावधान किया गया है। जिसके तहत उत्तर प्रदेश वरासत अभियान योजना को ग्रामीण लोगों की सहायता करने के लिए योगी आदित्यनाथ जी द्वारा शुरू किया गया है। 15 दिसंबर को ना केवल भूमि विवाद को समाप्त करने के बाद की जाएगी बल्कि लेखपाल की गैर जिम्मेदारी व्यवहार भी बंद किए जाएंगे इन पर लगाम लगाई जाएगी।

उत्तर प्रदेश वाराणसी अभियान के लिए आवेदन का अपडेट

ऑनलाइन प्रक्रिया आमतौर पर आधिकारिक वेबसाइट पर होती है परंतु कुछ तकनीकी समस्याओं के कारण यह वेबसाइट अभी के लिए अस्थाई रूप से डाउन हो चुकी है। जिसके चलते हुए योगी सरकार जी के द्वारा एक ऐसी योजना को लाया गया है जिसके अंतर्गत ग्रामीणों को सरकारी कार्यालय में जाना नहीं पड़ेगा।

राजस्व विभाग के अधिकारी उत्तर प्रदेश विरासत अभियान के अंतर्गत ग्रामीणों से संपर्क करेंगे और उत्तराधिकारी के आवेदन भी इन अधिकारियों द्वारा ऑनलाइन मोड़ के माध्यम से लिए जाएंगे जिन लाभार्थियों को अपना आवेदन करना है वह घर बैठे ऑनलाइन प्रणाली के माध्यम से कर सकते हैं और इसका लाभ भी उठा सकते हैं।

Important Dates: यूपी वरासत अभियान प्रमाण पत्र की तिथियां

नीचे निम्नलिखित प्रकार से हमने आपको उत्तर प्रदेश में उत्तराधिकारी अभियान के लिए विभिन्न प्रकार की तिथियों एवं वार को निर्धारित किया गया है जिसके अंतर्गत कार्यवाही को किया जाएगा जो कि इस प्रकार से है।

15 दिसंबर से 30 दिसंबर तक

आवेदकों को स्वयं पंजीकरण होने की सुविधा भी है या फिर वह जन सेवा केंद्र पर जाकर भी कर सकते हैं ऑनलाइन आवेदन के लिए राजस्व परिषद की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर खुद को पंजीकृत करना होगा। राजस्व ग्राम या फिर तहसील अधिकारियों से भी गांव में खतौनी पढ़ने की प्रक्रिया को पूरा करने के लिए एवं लेखपाल की ओर से भी गांव वालों के कार्यक्रम में जाकर उनका सर्वेक्षण करके सभी विरासत के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

31 दिसंबर से 15 जनवरी तक

  • पोर्टल पर अंकन की जाने वाली प्रक्रिया लेखपाल द्वारा प्राप्त हुए मामलों एवं प्राप्त हुए आवेदनों के संबंध में स्थानीय और अभिलेखों की सफलतापूर्वक जांच होने के बाद कानूनी अधिकारियों के नाम और उनका विवरण से रखने वाले संबंध में इसकी स्पष्ट जांच रिपोर्ट चाहिए।
  • यदि वारिसान में गलत बयान का उल्लेख होता है एवं लेखाकार इससे सहमत नहीं है तब ऐसे स्थिति में इसका पूरा कारण स्पष्ट रूप से उल्लेख करना होगा।
  • सी बात का पूरा स्पष्ट कारण का संकेत देते हुए खाता पांच कार्य दिवसों में लेखपाल से राजस्व निरीक्षक को ऑनलाइन भेजा जाएगा।
  • सहमत होने पर लेखपाल सहमति के बटन पर क्लिक करना होगा और अपनी बिंदुवार रिपोर्ट राजस्व निरीक्षक को भेजनी होगी।

16 जनवरी से 31 जनवरी तक

ग्राम राजस्व समिति की खुली बैठक की जाएगी जिसके अंतर्गत प्रचार करेंगे एवं आवेदन की ओर से भी भरे गई सभी जांच रिपोर्ट का विवरण और खुली बैठक में दिए गए सभी अकाउंटेंट को सार्वजनिक रूप से पढ़ाया जाएगा। यदि किसी आपत्ती या फिर वसीयत आदि की प्राप्ति होती है तब ऐसी स्थिति में प्राधिकरण प्राप्त सूचना के उत्तराधिकारी या फिर उसके ऑनलाइन नंबर में प्राप्त हुई आपत्ति का पूरे विवरण के ब्यौरे में आदेश पारित करेगा। इससे संबंधित मामले में राजस्व निरीक्षक पोर्टल पर खुद पूर्व परीक्षा संख्या को दर्ज करने के पश्चात प्रवेश का आदेश पारित करेगा

1 फरवरी से 15 फरवरी तक

इसके अंतर्गत यह सुनिश्चित किया जाएगा के उत्तराधिकारी का जिसे भी मामला बिना विवाद के पंजीकृत ना हो उसी के साथ साथ निर्विवाद उत्तराधिकारी से भी लंबित सभी मामलों को डीएम, एडीएम, एसडीएम या फिर अन्य जनपद के स्तर के अधिकारियों द्वारा सुनिश्चित किया जाएगा।

यूपी वरासत अभियान प्रमाण पत्र ऑनलाइन आवेदन

यदि आप उत्तर प्रदेश में राशन अभियान प्रमाण पत्र के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो नीचे बताइए प्रक्रिया का पालन करके आसानी से कर सकते हैं जो कि इस प्रकार से है।

यूपी वरासत प्रमाण पत्र
  • होम पेज खुलने के बाद आपको उत्तराधिकार / वरासत हेतु आवेदन (प्रपत्र आर० सी० 9 पूर्व में प क – 11) ऑनलाइन आवेदन करने के लिए यहाँ क्लिक करें” के लिंक पर क्लिक करना है।
  • लिंक पर क्लिक करने के बाद आपके सामने नया पेज आ जाएगा।
यूपी वरासत प्रमाण पत्र
  • यहां पर आपको अपना मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा।
  • फिर प्राप्त हुए मोबाइल नंबर का ओटीपी दर्ज करना होगा।
  • सभी जानकारी दर्जे करने के बाद दिखाई दे रहा कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  • यह जानकारी दर्ज करने के बाद आप पोर्टल पर लॉगिन करें पर क्लिक कर दें।
  • सफल लॉगइन होने के बाद राजस्व संहिता की धारा 33(1) के उत्तराधिकार / वरासत हेतु आवेदन (प्रपत्र 9 पूर्व में प क – 11(क)) की प्रविष्टि करे लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • उसके बाद स्क्रीन पर नया पेज खा जाएगा।
  • अब यहां पर उत्तराधिकारी प्रमाण पत्र प्रारूप आवेदन पत्र को देख सकते हैं।
  • इस आवेदन पत्र में पूछी गयी सभी जानकारी को ध्यानपूर्वक से दर्ज करें।
  • केवल 4 विभागों में इस जानकारी को दर्ज करना होगा।
  • मांगे गए विभागों की जानकारी को ध्यानपूर्वक से दर्ज करना होगा।
  • फिर इस आवेदन पत्र को अब आपको जमा करना होगा।
  • इस प्रकार से आपका आवेदन पूरा हो जाएगा और एक एक्नॉलेजमेंट आपके स्क्रीन पर प्रदर्शित होगा।

यूपी वरासत अभियान प्रमाण पत्र Helpline contact

दोस्तों UP Varasat Praman Patra हेल्पलाइन नंबर की जानकारी कौमी नीचे निम्नलिखित प्रकार से बताया है यदि आपको किसी भी प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो ऐसी स्थिति में आप अपने नंबर से संपर्क कर सकते हैं हमने आपको मुख्यमंत्री का हेल्पलाइन नंबर ईमेल आईडी एवं पोर्टल हेल्पलाइन नंबर की जानकारी को बताया है।

  • हेल्पलाइन नबंर- 0522-2620477 
  • मुख्यमंत्री के हेल्पलाइन नंबर- 1076 
  • ईमेल आईडी- [email protected]

Conclusion

दोस्तों आज के आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको यूपी वरासत अभियान प्रमाण पत्र के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी को बताया है। हम आशा करते हैं आप कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा। यदि आपको हमारे द्वारा लेख के अपडेट चाहिए तो हमारी वेबसाइट को जरूर सब्सक्राइब कर ले या फिर बुकमार्क कर ले ताकि कोई भी अपडेट छोड़ ना पाए।

यूपी वरासत अभियान प्रमाण पत्र के माध्यम से अब लोगों को परेशान होने की आवश्यकता नहीं है। कठिनाइयों से दूर करने के लिए योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा जमीन एवं संपत्ति के रिकॉर्ड को ऑनलाइन किया गया है और वरासत अभियान को शुरू किया गया है। आर्टिकल से जुड़ा कोई भी सवाल पूछना हो तो नीचे कमेंट कर सकते हैं हम आपका जवाब देंगे धन्यवाद।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *